देव सैनी

स्टाफ सुप्रशिक्षित है और सिखाने का तरीका दूसरों से हटकर है। कक्षा में सैद्धांतिक चर्चा से ज़्यादा व्यावहारिक शिक्षा पर बल दिया जाता है। कक्षा में समूह चर्चाओं, ऑडियो-वीडियो अभ्यास, प्रस्तुतियों, और दूसरी कई विधियों का प्रयोग किया जाता है जो आत्मविश्वास बढ़ाने में सहायक है। सिखाने की दृष्टि से TELW दूसरे ऐसे संस्थानों से अधिक सहायक और उपयोगी है। कीमत के लिहाज़ से हमें यहाँ दूसरे नामी संस्थानों की तुलना में लगभग आधी कीमत पर सुविधा उपलब्ध हुई। इस कीमत पर मिल रही सुविधा पूरी तरह संतोषजनक है।

फ़ायदे

  • प्रत्येक बैच में (अधिकतम) 4 छात्र
  • घर जैसा वातावरण
  • सहायता के लिए तत्पर स्टाफ
  • पढ़ाने का ढंग तारीफ़ के योग्य है और विषयों को छात्रों को स्पष्ट करके समझाना शिक्षक की पहली प्राथमिकता है
  • प्रस्तुतियाँ, ऑडियो-विज़ुअल अभ्यास सामग्री
  • सिखाने के लिए सामग्री सचमुच बहुतायत में उपलब्ध है

नुकसान

मुझे तो अभी तक कोई नहीं दिखाई दिया (यदि आपको कुछ ऐसा दिखाई दे तो मुझे भी बताएं)।

निष्कर्ष

  • आपको TELW जैसी वर्कशॉप कहीं नहीं मिलेगी।
  • सबसे बड़ी बात है कि इतनी अच्छी वर्कशॉप इतनी कम फ़ीस में सबकी पहुँच के अन्दर है।
  • मेरी व्यक्तिगत राय है कि मुझे यह बहुत अच्छा लगा।
  • संक्षेप में, यदि आप अपने अंग्रेज़ी भाषा के ज्ञान और आत्मविश्वास को बढ़ाना चाहते हैं तो आपको यहाँ दाख़िला लेना चाहिए।

काजल

शिक्षक छात्रों को पहले ही सब बातें समझा देते हैं। मैं इससे पहले इतने अच्छे शिक्षक से नहीं मिली हूँ। उनका सिखाने का ढंग बहुत अलग था और हर कक्षा में केवल चार ही छात्र होते थे, जिसके कारण प्रत्येक छात्र को अपनी शंकाओं का समाधान पाने के लिए अधिक समय मिल पाता है। दिन-प्रतिदिन की बोलचाल में मेरा आत्मविश्वास बहुत बढ़ा है। मुझसे पूछें तो यह संस्थान और शिक्षक दोनों ही सबसे अच्छे हैं।

राजेश यादव

मैंने TELW में एक महीने सीखा है (अपने संवाद कौशल को सुधारने और प्लेसमेंट इंटरव्यू के लिए तैयारी करने के लिए)।

  • TELW में पढ़ाने वाले ट्यूटर मेरे अब तक के सबसे अच्छे शिक्षकों में से एक हैं।
  • बहुत अनुभवी हैं।
  • सिखाने में स्पष्टता।
  1. अध्ययन सामग्री
  2. ऑडियो तथा वीडियो रिकॉर्डिंग्स
  3. समूह चर्चाएं
  4. आमने-सामने संवाद (एक कक्षा में अधिकतम 4 छात्र)
  • व्यक्तिगत सलाह।

सीखने के लिए संस्थान का चुनाव ब्रांड के नाम के आधार पर न करें। केवल शिक्षक और उसकी मेहनत का ही महत्व होता है…बाकी बातें निरर्थक हैं।

दीपा

कोर्स बहुत अच्छा था! सिखाने वाले भी उतने ही बढ़िया। अब मैं ज़्यादा आत्मविश्वास के साथ अंग्रेज़ी बोल सकती हूँ। दी गई सामग्री मुझे बहुत अच्छी लगी।

पीयूष चावला

मैंने एक शैक्षिक कार्यक्रम के लिए विदेश जाने से पहले मनु की कक्षाओं में प्रस्तुति कौशल (Presentation Skills) सीखा था। अंग्रेज़ी भाषा पर उनकी पकड़, छात्रों की सहायता करने के लिए उनकी प्रतिबद्धता, उपलब्ध कराई गई वीडियो रिकॉर्डिंग्स और उनके फीडबैक सत्र मेरे प्रस्तुति कौशल को सुधारने में बेहद उपयोगी साबित हुए। यदि आप कम समय में ये कौशल सीखना चाहते हैं तो मनु की कक्षाओं में अवश्य शामिल हों। –पीयूष चावला, पूर्व सी.ई.ओ., विकास पब्लिशिंग